Notification

About MAPCET

मध्‍यप्रदेश रोजगार एवं प्रशिक्षण परिषद् (मूलत: आदिवासी तकनीकी शिक्षा मण्‍डल) वर्ष 1981 से जनजाति वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिये विभिन्‍न तकनीकी एवं व्‍यावसायिक क्षेत्रों में कुशलता का विकास कर उनके रोजगार/ स्‍वरोजगार के अवसरों में वृद्धि हेतु स्‍थापित है। तत्‍पश्‍चात् वर्ष 1989 में संस्‍था  के कार्यक्षेत्र में वृद्धि कर अनुसूचित जाति वर्ग के लिये तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रमों के आयोजन को भी शामिल किया गया। वर्ष 2008 से मेपसेट के उद्देश्‍यों में वृद्धि करते हुए पिछड़ा वर्ग के शिक्षित बेरोजगार उम्‍मीद्वारों के लिये स्‍वरोजगार/ रोजगार के अवसरों में वृद्धि हेतु विभिन्‍न रोजगारमूलक प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जाना भी सम्मिलित किया गया है।

Candidates Registered

Training Service Provider Registered

Centre Affiliated

Candidates-Ongoing Training

Candidates-Completed Training

Sectors Covered

Qualification Pack Running

Running Batches

Message

Managing director

Vision

मेपसेट के उद्देश्‍य:-

1. परिषद् का उद्देश्‍य अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं शासन के निर्देशानुसार अन्‍य कोई जाति या वर्ग के सदस्‍यों को रोजगार के अवसर बढ़ाने की दृष्टि से सभी उपयुक्‍त कार्य करना है, जिसमें निम्‍न बिन्‍दु सम्मिलित है:-

  • कुशल एवं अर्द्धकुशल मजदूरों का प्रशिक्षण।
  • सभी स्‍तर की औपचारिक तकनीकी शिक्षा की व्‍यवस्‍था जिसमें कुशल मजदूर तकनीशियन आदि भी सम्मिलित हों।
  • प्रशिक्षित एवं गैर प्रशिक्षित व्‍यक्तियों के लिये प्रशिक्षण जिससे कि वे अन्‍य रोजगार अपना सकें।
  • तकनीकी कौशल के विकास के लिए व्‍यापक आयोजन व उसके आवश्‍यक क्रियान्‍वयन की व्‍यवस्‍था करना।
  • शासकीय विभागों एवं शासन के अधीनस्‍थ संस्‍थाओं में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों का प्रशिक्षण।
  • उक्‍त सभी प्रयोजनों के लिए सुविधाऍ प्रदान करना, छात्रवृत्तियॉं, उपहार, पुरस्‍कार आदि देना।
  • उपरोक्‍त सूची उद्देश्‍यों की पूर्ति हेतु चल अथवा अचल सम्‍पत्ति का क्रय-विक्रय व हस्‍तान्‍तरण करना।
  • आदिवासी क्षेत्रों में तकनीकी कौशल के विकास के लिये वे अन्‍य समस्‍त कार्य करना जो वांछनीय, आवश्‍यक अथवा सहायक हो।
  • व्‍यावसायिक प्रशिक्षण की योजना बनाना व जिन क्षेत्रों में इसकी आवश्‍यकता हो, वहॉं इसके प्रबंधन करना।
  • ऐसे विभिन्‍न संस्‍थाओं की जो आदिवासी क्षेत्रों में व्‍यावसायिक, तकनीकी एवं प्रबंधकीय प्रशिक्षण का कार्य कर रही हो।
  1. अपने को संबद्ध करना और उनके प्रशिक्षण के स्‍तर को तय करना अथवा उसके लिए समय-समय पर उनका निरीक्षण करना।
  2. आवश्‍यकतानुसार उन्‍हें ऐसी मान्‍यता प्राप्‍त संस्‍थाओं से संबद्ध करना जो तत्‍संबंधी परीक्षा लेने का कार्य करती हो।
  • स्‍थानीय संस्‍थाओं में तकनीकी प्रशिक्षण का प्रबंध करना।
  • ऐसे समस्‍त कार्य करना जो सामान्‍य सभा द्वारा परिषद् के हित में या अनुसूचित जनजाति या अन्‍य कोई पिछड़े वर्ग के उत्‍थान हेतु आवश्‍यक समझा जाए।

Events and Activities

Gallery